Leave a Reply

”ॐ में ही आस्था; ॐ में ही...

”ॐ में ही आस्था; ॐ में ही विश्वास; ॐ में ही शक्ति; ॐ म...

अच्छे के साथ अच्छे...

अच्छे के साथ अच्छे रहो लेकिन बुरे के साथ बुरे नहीं बनो। ...

अपनी जुबान से...

अपनी जुबान से किसी की बुराई मत करो, क्योंकि बुराईयाँ ...

आज कुछ घबराये...

आज कुछ घबराये से लगते हो, ठंड मे कपकपाये से लगते हो, ...

आप का हर लम्हा गुलाब...

आप का हर लम्हा गुलाब हो जाये, आप का हर पल शादाब हो...

आपकी आँखों को...

आपकी आँखों को जगा दिया हमने, गुड मॉर्निंग का फ़र्ज़ अदा कि...

आपकी ज़िंदगी में कभी...

आपकी ज़िंदगी में कभी गम ना हो; आपकी आँखें कभी आंसुओं...

आपकी नयी सुबह इतनी...

आपकी नयी सुबह इतनी सुहानी हो जाये, दुखों की सारी बातें आपकी पुरान...

इतने उदास क्यों...

इतने उदास क्यों !! है आप, बोलोना, ( ‘.’) !)(? ओह I ...